जिला प्रशासन की सख्ती | बेटे की शादी के कार्ड बांटने निकला, दो जगह काट दिया चालान

कोरोना संक्रमण रोकने के लिए जिले में lockdown लगाया गया है। इस दौरान बेवजह बाहर निकलना प्रतिबंधित किया है।
Lockdown के दौरान जरूरी काम से निकलने पर छूट दी गई है, वहीं शादी विवाह सीमित लोगों की मौजूदगी में करने की अनुमति है।
बीते दिन अपने बेटे की शादी के कार्ड रिश्तेदारों को बांटने जा रहे एक व्यक्ति का चालान काट दिया गया। इतना ही नही उसका इसी कारण के चलते दो बार चालान काटा गया।

सरवई निवासी जगदीश शिवहरे के बेटे की आने वाले दिनों में शादी है। जगदीश अपनी बाइक पर सवार होकर रिश्तेदारों को कार्ड बांटने जा रहा था।
उसे छत्रसाल चौराहा पर रोककर 200 रुपए का चालान काट दिया गया। जबकि उसने अपने बेटे की शादी का कार्ड भी दिखाया। उसकी बिल्कुल नहीं सुनी और चालान काट दिया।

जगदीश शिवहरे ने बताया कि इससे पहले खजुराहो में भी उसका 250 रुपए का चालान काट दिया गया है। इस मामले में नायब तहसीलदार अंजू लोधी का कहना था कि शादी कार्ड बांटना कोई जरूरी काम नहीं है। शादी के लिए मोबाइल पर कॉल करके या मैसेज भेज कर सूचना देनी चाहिए। शादी के सिलसिले में निकलना जरूरी कार्य में नहीं आता।

Leave a Comment